बसपा का हाथ श्रमिकों के साथ गरीब प्रवासी मजदूरों के दर्द की आवाज़ सिर्फ भारत नायिका बसपा सुप्रीमो मा. बहन मायावती जी है, By- Sudesh Kumar Arya, Chandni Chowk Lok Sabha Jon Co-ordinator, Delhi State BSP.

Sudesh Kumar Arya, Chandni Chowk Lok Sabha Jon-Co-ordinator, Delhi State BSP.

 लगभग 5-6 महीने से देश कोरोना से जूझ रहा है लेकिन कोरोना के आड़ में बीजेपी – कांग्रेस सरकार श्रमिकों के मुश्किलों के लिए मुख्यतः जिम्मेदार हैं. मजदूरों ,गरीब महिलाओं और बच्चों के रोते बिलखते चित्तकर चीख शब्द मन को विचलित कर रहे हैं, लेकिन जिस तरह से बीजेपी और कांग्रेस औछी घिनौनी राजनीति कर दिखावे के घड़ियाली आंसू दिखाकर अपनी अपनी विफलताओं को छुपा रही है, पूरी दुनिया देख रही है , विश्व पटल पर मोदी सरकार की थू थू हो रही हैं, क्योंकि गरीबों, मध्यम वर्गीय , किसानों और अन्य लोग परेशान हैं , लेकिन सरकार इन सभी की समस्याएं को अनदेखा कर निति नए रोज मूर्खतापूर्ण ड्रामेबाजी कर मूल मानवीय और भौतिकतावाद से ध्यान हटा रही है।

इस राजनीतिक चिल्ला चिल्ली में सिर्फ एक #राष्ट्रीय_नेता, मुश्किल हालात में विपक्ष की एकमात्र गरीब मजदूरों की आवाज बसपा सुप्रीमो #माननीय_बहन_कु_मायावती_जी है- जिन्होंने कोरोना के बजह से सरकार की बदइंतजामी को देश को बताने का साहस किया है,

#माननीय_बहन_जी लॉक डाउन के प्रथम दिन से ही सरकार की गाइडलाइंस को फॉलो कर देश के गरीबों और असहाय लोगों की आर्थिक, खाद्यान्न, चिकित्सा सुविधाएं, प्रवासी मजदूरों के लिए ट्रेन, बसों की व्यवस्था कराई. यह सब #भारत_नायिका #गरीबों_की_मसीहा  माननीय बहन #मायावती जी अपने स्तर से बिना दलगति राजनीति किये काम कर रही है। लेकिन पूरा भारत देख रहा है कैसे केन्द्र मोदी सरकार, बीजेपी-कांग्रेस राज्य सरकारें अपनी थोथी झूठी बातें टीवी माफिया चैनलों से सुबह शाम गलाफाड चिल्लाते है, कागजी भाषणों, पेपरों में ट्रेनें, बसे ,अन्य सुविधाएं बताकर गरीब प्रवासी मजदूरों के दर्द को कचोटते है!

हम सभी ने देखा #बीएसपी के हज़ारों आम कार्यकर्ता, सांसदों, विधायकों, पदाधिकारियों ने खुद और माननीय बहन जी देश के लोगो की मदद करने के लिए सेवाभाव से लगे हैं.हम सभी माननीय बहन मायावती जी से प्रेरित होकर जनसेवा भागीदारी कर गरीबों, मजलूमों की मदद कर रहे हैं,

सभी देख रहे हैं कैसे बसपा सुप्रीमो बहन मायावती जी बिना शोरशराबे के अपनी भारतीयता और मानवीय जिम्मेदारी को निभा रहे हैं – जिसका प्रमाण कोरोना काल मे दिखा – पंजाब राज्य से तीन ट्रेनों के प्रवासी मजदूरों को उत्तर प्रदेश और बिहार  के लोगो के लिए ट्रेनों का किराया रेलवे विभाग को दिया है,  और कई करोड़ आर्थिक सहायता सरकार को दी है, साथ मे दुःखी है बेबस मजदूरों की मुश्किलें और दुर्घटनाओं को देख कर, जिसकी जिम्मेदार सिर्फ केंद्र सरकार और राज्य सरकारें है! उन्हीं मानवीय मूल्यों पर सरकार से सवाल भी कर रहे हैं और सरकार को रास्ते भी दिखा रही है!

नोट :- आज के मौजूदा स्थिति में बसपा सुप्रीमो #बहन_कु_मायावती_जी ही एकमात्र मानवीय राजनीतिक सख्सियत है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here